मुंबई से पश्चिम बंगाल जा रहे ट्रक में बांस से दो कंपार्टमेंट बना दिए। इसमें मजदूरों को ठूंस-ठूंसकर भरा गया। नासिक के मो. यूनुस ने बताया कि हम 101 लोग पश्चिम बंगाल जा रहे हैं। ट्रक वाले ने प्रति व्यक्ति 4000 रुपए वसूले हैं। ट्रक में बैठे-बैठे दम घुटने लगता है, क्या करें मजबूरी है।
सोशल डिस्टेंसिंग के साथरमजान महीने के आखिरीनमाज

यह तस्वीर दिल्ली की जामा मस्जिद की है। रमजान महीने के आखिरी शुक्रवार को यहां कुछ लोगों ने नमाज पढ़ी। बाकी आम लोगों के यह बंद रही। आमतौर पर हर शुक्रवार को यहां 10 हजार लोग इबादत करने पहुंचते हैं।

भूखे-प्यासे मजदूरों का खाने के लिए संघर्ष

तस्वीर खंडवा स्टेशन की है। यहां समाजसेवी लोग खाना लेकर पहुंचे तो भूखे-प्यासे मजदूर उनसे भी संघर्ष करते दिखे। लॉकडाउन के कारण महाराष्ट्र सहित अन्य प्रदेशों में फंसे मजदूरों के लिए चलाई गई श्रमिक ट्रेनें शुक्रवार सुबह से शाम तक भुसावल से खंडवा के बीच 8 अलग-अलग स्थानों पर सिर्फ इसलिए खड़ी रहीं, क्योंकि उन्हें चलाने के लिए भोपाल से सिग्नल नहीं मिल रहे थे। ऐसे में चिलचिलाती धूप में जब मजदूरों को खाना-पीना नहीं मिला।

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सामान छोड़ दिया सामान

भोपाल के सुभाष स्कूल में बिहार जाने के लिए लोगों के रजिस्ट्रेशन किए जा रहे हैं। शुक्रवार को यहां सैकड़ों लोग जुट गए। तापमान बढ़ते ही लोग अपना सामान सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बने गोलों में रखकर छांव में चले गए।
शाम की ट्रेन, सुबह से इंतजार

तस्वीर भोपाल के हबीबगंज स्टेशन की है। यहांसिक्किम, मणिपुर, आसाम जाने वाले 400 यात्रियों के लिए हबीबगंज स्टेशन पर खाने-पीने का इंतजाम था। गाेवा से मणिपुर जाने वाली यह ट्रेन शाम पांच बजे आने वाली थी लेकिन अधिकतर यात्री सुबह से ही स्टेशन पहुंच गए थे। ये प्रदेश के विभिन्न जिलों से यहां पहुंचे थे।

कोरोना संक्रमण ने बदला फैशन ट्रेंड

तस्वीर राजस्थान के बांसवाड़ा की है। कोरोना संक्रमण ने अब बाजार में फैशन का ट्रेंड बद दिया है। इन दिनों लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद शहर में कपड़ों की दुकानें खुलने लगी हैं। शोरूम के बाहर लगे पुतलों पर अब ड्रेस के हिसाब से मास्क लगाए जा रहे हैं।

ट्रैक्टर पर दुल्हन लेकर पहुंचा दूल्हा

तस्वीर पंजाब के बठिंडा की है। यहां लॉकडाउन के चलते गांव धलेवा के युवक ने महज पांच घंटे में शादी कर ली। इसके बाद दूल्हा खुद ट्रैक्टर पर अपनी दुल्हन को गांव लेकर आ गया।

कोरोना हो या गर्मी बचा लेगी मां...

तस्वीर मध्य प्रदेश के गुना की है। जहां एक मां अपने बेटे को धूप से बचा रही है। शुक्रवार को पारा पहली बार 44 डिग्री के पार पहुंच गया। इससे पहले 9 मई को सबसे ज्यादा गर्म दिन था जब तापमान 43.2 डिग्री रिकॉर्ड हुआ था।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
101 laborers going from Maharashtra to Bengal after filling in a truck, few people attended Jama Masjid with social distancing


from Dainik Bhaskar /national/news/101-laborers-going-from-maharashtra-to-bengal-after-filling-in-a-truck-few-people-attended-jama-masjid-with-social-distancing-127331101.html

Post a Comment

Previous Post Next Post