स्पेन की 113 साल की मारिया ब्रायनस ने कोरोना वायरस को हरा दियाहै। वहसंक्रमण से ठीक होने वाली दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला बन गई हैं। यह जानकारी मारिया के ट्विटर अकाउंट से उनके परिवार के सदस्यों ने दी। अप्रैल में उनमें कोरोना के कुछ हल्के लक्षण नजर आए थे। इसके बाद उन्हें आइसाेलेट किया गया। इस दौरान वे अपने परिवार के सदस्यों के संपर्क में रहीं। मई के पहले सप्ताह में डॉक्टरों ने उनके स्वस्थ्य होने की पुष्टि कर दी।
मारिया स्पेन में 105 साल से ज्यादा उम्र की दूसरी ऐसी महिला हैं, जिसने इस बीमारी को हराया है। इससे पहले 107 साल की एना डेल वैलेसंक्रमण से ठीक हुई थीं। एना डेल 5 साल की उम्र में स्पेनिश फ्लू बीमारी से भी ठीक हुईथीं।
मारिया के तीन बच्चे और11 पोते-पोतियां
मारिया 2019 से स्पेन की सबसे उम्रदराज महिला हैं। उनका जन्म 1907 में सैन फ्रांसिस्को के एक स्पैनिश प्रवासी परिवार में हुआ था। उनके जन्म के कुछ दिन बाद उनका परिवार स्पेन लौट आया था। 1931 में मारिया की शादी एक डॉक्टर से हुई। उनके तीन बच्चे, 11 पोते-पोतियां और 13 पड़पोते-पड़पोतियां हैं। वह 1918 का स्पेनिश फ्लू और 1936 से 1939 तक चले सिविल वारभी देखचुकी हैं। पिछले 20 साल से वे जिरोना शहर के एक नर्सिंग होम में रह रही हैं।
नीदरलैंड की 107 साल महिला ने भी कोरोना को हराया था
नीदरलैंड की 107 साल की कॉरनेलिया ने भी कोरोना को हराया था। वे अपने ही देश में एक द्वीप की यात्रा के दौरान संक्रमित हुई थी। इस टूर पर उनके साथ 40 लोग गए थे, जो बाद में संक्रमित मिले थे। इनमें से 12 की मौत हो गई थी। हालांकि, कॉरनेलिया इस बीमारी को हराने में सफल रहीं। उनमेंसंक्रमण के लक्षण तब सामने आए जब वह चर्च में प्रार्थना करने के बाद घर पहुंची थीं।



Post a Comment

Previous Post Next Post