कश्मीर के बड़गाम में पुलिस और आर्मी की 53 आरआर यूनिट ने लश्कर के मुख्य सहयोगीवसीम गनी को गिरफ्तार किया है। वह बीरवाह का रहने वाला है।वसीम के अलावा उसके दो और सहयोगियों को पकड़ा गया है। ये लोग आतंकवादियों को इस इलाके में लॉजिस्टिक सपोर्ट मुहैया कराते थे। इसके अलावा, इन्हें शरण देते थे।

इससे पहले, सुरक्षा बलों ने 16 मई कोबड़गाम के अरिजल खानसैब में एक सुरंग का पता लगाया था। साथ ही लश्कर-ए-तैयबा के मददगार जहूर वानी समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया था।

सुरंग जहूर वानी के घर से 500 मीटर की दूरी पर थी

  • पुलिस सूत्रों ने बताया कि सुरंग में मिले सामानों को देखकर लगता है कि आतंकी कई दिनों से यहां रुके थे। यह सुरंग जहूर वानी के घर से करीब 500 मीटर दूर है। उस वक्त ऐसा बताया गयाकि वानी लंबे वक्त से आतंकियों की मदद कर रहा था।
  • पुलिस ने बताया कि वानी और उसके चार सहयोगी अरिजल खानसैब कस्बे के रहने वाले हैं। ये सभी लश्कर के आतंकियों को लॉजिस्टिक और ट्रांसपोर्ट मुहैया कराते थे। यह ग्रुप पिछले कुछ महीनों से इस इलाके में एक्टिव था।
यह सुरंग गिरफ्तार किए गए आतंकी जहूर वानी के घर से करीब 500 मीटर दूर है।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Indian Army arrested a top LeT terror associate Wasim Ganie along with 3 over ground workers


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2AXyG1B

Post a Comment

Previous Post Next Post