ऐसा कम ही होता है जब किसी देश का प्रधानमंत्री रेस्तरां में सार्वजनिक रूप से कॉफी और स्नैक्स के लिए जाए। और तोऔर ऐसा शायद ही कभी हुआ होगा कि कोई रेस्तरां देश के पीएम को बाहर ही खड़ा कर दे। पर न्यूजीलैंड में ऐसा हुआ। प्रधानमंत्री जसिंदा अर्डर्न अपने पार्टनर क्लॉर्क ग्रेफोर्ड के साथ वेलिंगटन के मशहूर कैफे ओलिव में पहुंची थी। मैनेजर ने उन्हें यह कह कर रोक दिया कि रेस्तरां में बैठने की जगह नहीं है।

दरअसल, कोरोना के दौर में सोशल डिस्टेंसिंग के सख्त नियमों की वजह से उन्हें प्रवेश नहीं दिया गया। हालांकि, करीब पौन घंटे बाद उनके बैठने की व्यवस्था हो गई। द गार्डियन के मुताबिक, एक शख्स जॉय ने ट्विटर पर इस घटना की जानकारी दी। उसने लिखा कि ‘ओएमजी, न्यूजीलैंड की पीएम को ऑलिव रेस्टोरेंट में जगह नहीं होने से वापस लौटा दिया गया।’

यूजर के लिए ये बहुत हैरानी वाली बात इसलिए भी थी क्योंकि सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के तहत रेस्टोरेंट में 100 लोगों को इजाजत है और 1 मीटर की दूरी पर समूहों के बैठने की सहूलियत है। इसके बावजूद रेस्तरां पीएम के बैठने की व्यवस्था नहीं कर सका।

इस गड़बड़ी के लिए पीएम अर्डर्न के पार्टनर ने खुद को जिम्मेदार बताया
हालांकि, इस गड़बड़ी के लिए पीएम अर्डर्न के पार्टनर ने खुद को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा किवो पहले से टेबल बुक नहीं कर सके थे। न्यूजीलैंड में लॉकडाउन हट गया है। पर सोशल डिस्टेंसिंग का ऐहतियात बरतना जारी है। यही वजह रही कि कैफे ने पीएम को बाहर ही रोक दिया।

हालांकि, करीब 45 मिनट के इंतजार के बाद पीएम के बैठने केलिए कैफे में व्यवस्था हो गई। मैनेजर खुद ही भाग कर पीएम जसिंदा को बुलाने के लिए बाहर तक गया। इस दौरान, पीएम जसिंदा भी बाकी ग्राहकों की तरह ही टेबल खाली होने का इंतजार करती रहीं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
इस गड़बड़ी के लिए पीएम अर्डर्न के पार्टनर ने खुद को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि वो पहले से टेबल बुक नहीं कर सके थे। -फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2LBucj6

Post a Comment

Previous Post Next Post