कोरोनावायरस के प्रकोप के बीच भीड़भाड़ से बचने के लिए दुनिया भर में साइकिल का इस्तेमाल बढ़ रहा है। जापान में कई कंपनियां होम डिलीवरी के लिए साइकिल इस्तेमाल कर रही हैं। टोक्यो की एक कंपनी की बिक्री दो महीने में 19% बढ़ी है। ऐसे में जापान सरकार ने ट्रैफिक के नए नियम बनाए हैं, जिनमें साइकिल पर ज्यादा ध्यान दिया गया है।

नए नियमों के मुताबिक, बार-बार घंटी बजाना नियमों का उल्लंघन माना जाएगा, जिसके लिए जुर्माने का प्रावधान है। 14 साल से ज्यादा उम्र के साइकिल चालकों के लिए ट्रैफिक सेफ्टी कोर्स जरूरी होगा। ‌‌वरना करीब 35 हजार रुपए जुर्माना चुकाना होगा। दरअसल, लगातार बढ़ते हादसे सरकार के लिए चुनौती बने हुए हैं।

ट्रैफिक सुधारने के लिए सरकार को नए नियम बनाने पड़े

पिछले साल खतरनाक साइक्लिंग के 26,687 मामले दर्ज हुए थे, जिनमें से सिर्फ 328 लोगों ने सेफ्टी कोर्स किया था। इन पर लगाम और ट्रैफिक सुधारने के लिए सरकार को नए नियम बनाने पड़े हैं। अन्य वाहन चालकों के लिए भी नियम सख्त किए गए हैं।

तेज या लापरवाही से दोपहिया या अन्य वाहन चलाने पर लाइसेंस दो साल के लिए रद्द कर दिया जाएगा। अन्य वाहन का रास्ता रोकना भी दंडनीय होगा। नए नियम 30 जून से पूरे देश में लागू हो जाएंगे।

शराब पीकर साइकिल चलाना, रास्ता रोकना मना

नए नियमों के मुताबिक, 14 प्रक्रियाओं या गतिविधियों पर रोक लगाई है और इनके उल्लंघन पर जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इनमें शराब पीकर साइकिल चलाने और दूसरों का रास्ता रोकने पर भी पाबंदी रहेगी। साइकिल चलाते वक्त मोबाइल फोन नहीं चला सकते।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
14 साल से ज्यादा उम्र के साइकिल चालकों के लिए ट्रैफिक सेफ्टी कोर्स जरूरी होगा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2BVqLSZ

Post a Comment

Previous Post Next Post