देश में अनलॉक-1 चल रहा है। तकरीबन ढाई महीने के बाद होटल और रेस्टोरेंट्स एक बार फिर खुल गए हैं। लेकिन, कुछ शर्तों के साथ। हालांकि, लोग अभी भी होटल और रेस्टोरेंट्स में जाने से बच रहे हैं। दिल्ली स्थितस्वाकेयर कंसल्टेंसी के डॉक्टर और साइकोलॉजिस्ट हर्षवर्धनलोगों को होटल और रेस्टोरेंट्स में नहीं जाने की सलाह देते हैं। वह कहते हैं कि आप कोशिश करें कि इस वक्त कतई शौक के लिए होटल या रेस्टोरेंट्स न जाएं।

हैदराबाद स्थित मेडिकवर हॉस्पिटल के चीफ हेपिटोबिलेरी और लीवर ट्रांसप्लांट सर्जन सचिन डागा कहते हैं कि होटल और रेस्टोरेंट्स में जाएं भी तो टेबल और चेयर को छूनेसे बचें। गर्म खाना ही खाएं। ज्यादा वेटिंग हो तो वापस घर आ जाएं।लेकिन, होटल्स और रेस्टोरेंट्स चेन ग्राहकों को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए हर तरह के प्रयास भी कर रही हैं।

ओयो होटल के सीइओ रितेश अग्रवाल कहते हैं कि कंज्यूमर्स कीसेफ्टी और सुरक्षा के लिए हमने 'सैनिटाइज्ड स्टे' का काम शुरू किया है। भारत के अलावा अमेरिका, चीन, ब्राजील, मैक्सिको तक के अपने होटल्स में हम इस तरह की सुविधा दे रहे हैं।रितेश कहते हैं कि सुरक्षा स्टोर की तरह हम 'सुरक्षा होटल' योजना पर भी काम कर रहे हैं, ताकि कंज्यूमर का ओयो पर ट्रस्ट बना रहे।

एक्सपर्ट्स बता रहेहोटल और रेस्टोरेंट्स में जाने के दौरान किन 5बातों का जरूर ध्यान रखें-

  • लोगों के लिए-
  • होटल और रेस्टोरेंट्स के लिए-
  • युवा भी होटल, रेस्टोरेंट्स जानेसे बचें-

सर्जन सचिन डागा कहते हैं कि होटल या रेस्टोरेंट्स में अभी किसी को भी जाने से बचना चाहिए, जब तक कि बहुत जरूरी न हो।डागा कहते हैं कि कोई ऐसा कतई न सोचें कि आप युवा हैं, तो कहीं भी जा सकते हैं, क्योंकि हाल-फिलहाल में कोविड-19 से युवाओं की भी जानें गई हैं।

  • ऐसे रूम लें, जिनमें सनलाइट आए-

डॉक्टरहर्षवर्धन कहते हैं कि कोशिश करें कि इस वक्त शौक के लिए होटल या रेस्टोरेंट्स न जाएं।गेट, चेयर-टेबल टच करने बचें, वॉशरूम के हैंडल और बेसिन को छूने के बाद हाथ जरूर सैनिटाइज करें। क्योंकि, इन चीजों के चलते भी वायरस फैलने का खतरा ज्यादा है।
पूरे समय ग्लव्ज पहनें। एसी रूम बहुत यूज न करें। दरवाजे और खिड़की को खोलकर रखें। ऐसे रूम लें, जहां सनलाइटरहे, ताकि एयर सर्कुलेशन बना रहे, क्योंकि बैक्टीरिया निकल नहीं पाते।

  • काॅन्टैक्टलेस और हाइजीन फ्री सर्विस-

इंडियन होटल कंपनी लिमटेड के एमडी और सीईओ पुनीत चट्वाल कहते हैं कि इस वक्त चुनौती बहुत बड़ी है, लेकिन हम यात्रियों का ख्याल रखने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं। हम अपने होटल्स को हाइजीन फ्री बना रहे हैं। सरकार और डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के मुताबिक काम कर रहे हैं।

ओयो कंपनी के पीआरओकरन कहते हैं कि अभी कंपनी का पूरा फोकस कॉन्टैक्टलेस सर्विस पर है। ताकि कंज्यूमर को वायरस का खतरा कम से कम हो। कंपनी देश के सभी 18 हजार होटलों में सैनिटाइज्ड स्टेकी व्यवस्था करवा रही है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Coronavirus (COVID-19)/Restaurants Hotels Reopening Updates; What precautions should You take when You visiting Restaurants and Hotels


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37IP4za

Post a Comment

Previous Post Next Post