तारीख 27 जुलाई, 2020। दिन, सोमवार। दैनिक भास्कर के मॉर्निंग ब्रीफ में सुर्खियों पर नजर डालेंगे, लेकिन सबसे पहले बात करगिल विजय दिवस की। 21 साल हो गए। पर, करगिल युद्ध के बलिदान और शौर्य की कहानियां आज भी ताजा हैं। करगिल विजय दिवस पर देश ने शहीदों को याद किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी रेडियो पर अपने नियमित कार्यक्रम 'मन की बात' में करगिल के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा - पाकिस्तान ने भारत की पीठ में छुरा घोंपने की कोशिश की थी। दुश्मन पहाड़ पर बैठा था, लेकिन जीत भारतीय सेना के हौसले और सच्ची वीरता की हुई। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और तीनों सेनाओं के प्रमुख भी वॉर मेमोरियल पहुंचे और करगिल के शहीदों को याद किया।

1- अब बात राजस्थान के सियासी चकल्लस की
राजस्थान में बीते 17 दिन से चल रही सियासी उठापटक अब धारावाहिक में तब्दील हो चुकी है। जिसके हर एपिसोड में नए मोड़ हैं। होटलों से निकल हाई कोर्ट, फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुकी इस सियासी जंग का नया अड्डा राजभवन है।

मुख्यमंत्री गहलोत का कहना है कि राजभवन यानी गवर्नर कलराज मिश्र विधानसभा सत्र बुलाने की उनकी मांग की अनदेखी कर रहे हैं, जो संविधान के लिहाज से सरासर गलत है। वहीं, भाजपा का कहना है कि सीएम गहलोत अपने बयानों से राज्यपाल को धमका रहे हैं। गहलोत ने कहा था कि अगर राज्यपाल ने विधानसभा सत्र न बुलाया तो जनता राजभवन घेर लेगी।

गहलोत-बनाम पायलट: कुछ फटाफट अपडेट्स

पहला - सीएम अशोक गहलोत ने विधानसभा का सत्र बुलाने के लिए राज्यपाल को संशोधित प्रस्ताव दोबारा भेज दिया है। इससे पहले भी गहलोत ने विधानसभा सत्र बुलाने का अनुरोध किया था, लेकिन उस पर गवर्नर को कुछ आपत्तियां थीं।

गहलोत के पास फिलहाल 100 से ज्यादा विधायकों का समर्थन है और वे जल्द से जल्द सदन में बहुमत साबित कर सरकार पर आया संकट टालना चाहते हैं। लेकिन, गवर्नर इसके लिए आसानी से तैयार होते नहीं दिखते। संवैधानिक बहस जारी है। ज्यादातर विशेषज्ञों का मानना है कि इस मामले में राज्यपाल को कैबिनेट की सलाह माननी पड़ेगी।

दूसरा - राजस्थान की सियासी उठापटक के लिए कांग्रेस ने भाजपा को जिम्मेदार ठहराते हुए सोशल मीडिया पर 'स्पीकअप फॉर डेमोक्रेसी' अभियान शुरू किया है। कांग्रेस का कहना है कि इस अभियान के तहत वह 27 जुलाई को पूरे देश के राज-भवनों का घेराव करेगी।

राहुल गांधी ने भी इसको लेकर ट्विटर पर वीडियो शेयर किया है। इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि भाजपा लोकतंत्र को खत्म कर रही है। मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान में सरकार गिराने की कोशिश की जा रही है। राहुल ने राजस्थान का विधानसभा सत्र तत्काल बुलाने की मांग भी की है।

तीसरा- राजस्थान के सियासी संकट में सोमवार को नजरें अदालत की तरफ घूमेंगी। गहलोत खेमे के विधायकों को नोटिस और उस पर स्पीकर की कार्रवाई का मामला सुप्रीम कोर्ट में है। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट इस बारे में अगर कोई महत्वपूर्ण निर्देश देता है तो पूरा घटनाक्रम तेजी से बदलेगा।

इसके अलावा भाजपा के एक विधायक ने हाईकोर्ट में यह याचिका दायर की है कि जो छह बसपा विधायक कांग्रेस में शामिल हुए थे, उसकी प्रक्रिया संवैधानिक रूप से गलत है।

पढ़ें पूरी खबर


2- यूसी वेब पर फेक न्यूज फैलाने का आरोप, कोर्ट ने अलीबाबा और जैक मा को नोटिस भेजा
चीनी ग्रुप अली बाबा और उसकी सहयोगी कंपनियां एक बार फिर चर्चा में हैं। यूसी वेब में काम कर चुके पुष्पेंद्र परमार ने आरोप लगाया है कि यूसी वेब, यूसी न्यूज इस तरह की फेक न्यूज फैलाते हैं कि भारत में इसको लेकर सामाजिक-आर्थिक उथल-पुथल मचे।

परमार का कहना है कि इसका विरोध करने पर उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया। परमार ने इस मामले को लेकर गुरुग्राम की अदालत में 20 जुलाई को रिट दाखिल की, जिसके बाद अदालत ने यूसी वेब की मूल कंपनी अलीबाबा और उसके संस्थापक जैक मा को नोटिस जारी किया है।

इसमें अलीबाबा और जैक मा को फेक न्यूज फैलाने के आरोपों का 30 दिन के भीतर जवाब देने को कहा गया है। लद्दाख की गलवान घाटी में सीमा विवाद के बाद भारत सरकार ने चीन के जिन 59 ऐप्स पर बैन लगाया था, उनमें यूसी वेब भी शामिल थी।

पढ़ें पूरी खबर

3- शिवराज चौहान के पत्नी-बेटे का कोरोना टेस्ट निगेटिव
मास्क लगाए रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का अच्छी तरह से पालन करें। कोरोना तेजी से पांव पसार रहा है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज चौहान कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने अस्पताल से ट्वीट कर अपनी सेहत ठीक होने की जानकारी दी है। राहत की बात यह है कि शिवराज के बेटे और उनकी पत्नी का कोरोना टेस्ट निगेटिव आया है।

अब एक नजर कोरोना के आंकड़ों पर। भारत में रोजाना मिलने वाले मरीजों का आंकड़ा 50 हजार को पार कर चुका है। साथ ही देश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 14 लाख के पार हो चुकी है। वहीं, दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1.62 करोड़ हो गई है। नार्थ कोरिया में कोरोना का पहला संदिग्ध मरीज मिला है।

इसके बाद वहां के तानाशाह शासक किम ने दक्षिण कोरिया से लगे शहर में इमरजेंसी की घोषणा कर दी है। इजराइल में भी संक्रमितों का आंकड़ा 60 हजार के पार हो गया। जिसके बाद राजधानी येरुशलम समेत देश के कई शहरों में प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के खिलाफ प्रदर्शन हुए।

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि नेतन्याहू कोरोना को रोकने में नाकाम रहे हैं। नेतन्याहू पर यह भी आरोप है कि कोरोना की रोकथाम के लिए खर्च हुई रकम में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है।

पढ़ें पूरी खबर


4- टीवी प्रेजेंटर रेगिस फिबिन का निधन, इन्हीं के शो की तर्ज पर था 'कौन बनेगा करोड़पति'
टीवी प्रेजेंटर रेगिस फिबिन नहीं रहे। रेगिस 88 साल के थे और न्यूयार्क में रहते थे। रेगिस फिबिन का क्विज शो 'हूं वांटस टू बी मिलेनियर' पूरी दुनिया में चर्चित हुआ। इसी शो की तर्ज पर भारत में अमिताभ बच्चन के साथ कौन बनेगा करोड़पति बनाया गया। क्विज शो होस्ट करने से पहले वे अमेरिकी आर्मी में अपनी सेवाएं दे चुके थे। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने भी फिबिन की मौत पर अफसोस जताया है।

पढ़ें पूरी खबर

5- क्या कहते हैं सितारे और कार्ड
राशिफल : एस्ट्रोलॉजर डॉ. अजय भाम्बी के अनुसार आज 12 में से 5 राशियों को संभलकर रहना होगा। 27 जुलाई, सोमवार को चंद्रमा तुला राशि में रहेगा। जिस पर शनि की टेढ़ी नजर रहेगी। शनि के कारण चंद्रमा पीड़ित रहेगा। इस कारण कुछ लोगों के सामने दिनभर तनाव की स्थिति में रहेगा। सितारों की इस स्थिति से जॉब और बिजनेस में लिए गए फैसले भी गलत हो सकते हैं। ऐसा सिर्फ पांच राशियों के लिए है। बाकी 7 राशियों के लिए दिन ठीक-ठाक रहेगा।

-पढ़ें पूरी खबर

टैरो कार्ड: शीला एम. बजाज कहती हैं कि सोमवार, 27 जुलाई 12 में से 7 राशियों के लिए अच्छे नतीजे देने वाला दिन हो सकता है। जबकि, 5 राशियों के लिए दिन सामान्य रहेगा। कुछ लोगों के लिए लाभ पैदा करने वाली परिस्थितियां बन सकती हैं। वहीं, कुछ राशियों का पारिवारिक और सामाजिक जीवन अच्छा रहेगा। पुराने मित्रों या रिश्तेदारों से मुलाकात हो सकती है। मेष राशि वालों को बिजनेस में नया मौका मिल सकता है। वृष राशि के लोगों को आज निजी जीवन में कुछ सफलता मिल सकती है। मिथुन राशि के लिए कोई महत्वपूर्ण डील होने के संकेत दिख रहे हैं।

-पढ़ें पूरी खबर



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
rajasthan political drama and alibaba and its founder jack ma summoned by court


from Dainik Bhaskar /national/news/accused-of-spreading-fake-news-on-uc-web-court-notice-to-jack-ma-and-alibaba-eyes-on-the-governor-and-the-supreme-court-in-the-political-turmoil-of-rajasthan-127556510.html

Post a Comment

Previous Post Next Post