नेशनल स्पोर्ट्स डे पर शनिवार को अवाॅर्ड दिए जाएंगे। कोरोना के कारण अवॉर्ड पहली बार ऑनलाइन दिए जाएंगे। कोरोना पॉजिटिव विनेश फोगाट इसमें शामिल नहीं होंगी। 74 अवॉर्डी में से 60 शामिल होंगे। सबसे बड़े खेल रत्न अवॉर्ड के इस बार 5 में से 3 अवाॅर्ड महिला खिलाड़ियों को दिए जाने हैं।

यह संयोग नहीं, बल्कि मौजूदा दशक में महिला खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन का नतीजा है। 2010 के पहले ओलिंपिक में सिर्फ एक महिला खिलाड़ी ने मेडल जीता था। इसके बाद 10 साल में भारत ने जितने ओलिंपिक मेडल जीते, उसमें से आधे महिला खिलाड़ियों को मिले हैं।

सानिया ने 5 ग्रैंड स्लैम टाइटल पर कब्जा किया

टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने 5 ग्रैंड स्लैम टाइटल जीते। वे इस दौरान डबल्स की रैंकिंग में नंबर-1 पर भी पहुंचीं।

इस बार की खेल रत्न

  • विनेश फोगाट को 2014, 2018 काॅमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में गोल्ड। दोनों गेम्स में मेडल जीतने वाली पहली महिला रेसलर बनीं थीं।
  • रानी रामपाल की कप्तानी में महिला हाॅकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक का टिकट हासिल किया। 226 मैच में 112 गोल कर चुकी हैं।
  • मणिका बत्रा ने 2018 काॅमनवेल्थ गेम्स के टेबल टेनिस में दो गोल्ड सहित चार मेडल जीते थे।


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
10 साल में भारत ने जितने ओलिंपिक मेडल जीते, उसमें से आधे महिला खिलाड़ियों को मिले हैं।  


from Dainik Bhaskar /national/news/female-players-dominate-the-current-decade-50-of-olympic-medals-won-in-10-years-127664004.html

Post a Comment

Previous Post Next Post