सफाई के मामले लगातार चौथी बार इंदौर नंबर-1 बनने जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली में आज ऑनलाइन कार्यक्रम में परिणामों की घोषणा आज ऑनलाइन करेंगे। स्वच्छता सर्वेक्षण-2020 लीग के तीनों क्वार्टर में भी इंदौर अव्वल है। दूसरे और तीसरे क्वार्टर के नतीजों का ऐलान आज होगा, जबकि छह हजार नंबर के स्वच्छता सर्वेक्षण में सिर्फ पहले क्वार्टर के घोषित परिणामों में इंदौर ने बाजी मारी थी। भास्कर ने इंदौर के चौका लगाने का खुलासा दो दिन पहले ही कर दिया था।

भोपाल में वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, पूर्व महापौर मालिनी गौड़, कलेक्टर मनीष सिंह, निगमायुक्त प्रतिभा पाल और पूर्व निगमायुक्त आशीष सिंह उपस्थित रहेंगे। मध्य प्रदेश को कुल 10 अवॉर्ड मिलेंगे। इनमें इंदौर के अलावा भोपाल, जबलपुर, बुरहानपुर, रतलाम, उज्जैन, नगर पालिका सिहोरा, नगर परिषद शाहगंज, नगर परिषद कांटाफोड़ और छावनी परिषद महू कैंट शामिल हैं।

सिटीजन फीडबैक, वेस्ट रिडक्शन, रेवेन्यू कलेक्शन के बूते बाजी मारी

भास्कर ने वे तीन कारण निकाले, जिस पर रैंकिंग का पूरा दारोमदार था। इस बार की रैंकिंग पिछले सभी सालों से ज्यादा चुनौतीपूर्ण इसलिए भी थी, क्योंकि सफाई को सालभर में तीन क्वार्टर में बांटा गया था।
सिटिजन फीडबैक: इंदौर के लोगों ने स्वच्छता को न सिर्फ सराहा, बल्कि उनके जवाबों के कारण इंदौर फिर नं. 1 बन सका। इसका मतलब यह कि जो शहर दावा कर रहा है उसकी सच्चाई लोग ही बताएंगे। दूसरे शहरों ने तो खुद को बहुत ही अच्छा और साफ बताया, लेकिन लोगों ने निगेटिव फीडबैक दिया।

वेस्ट रिडक्शन: लोगों ने सिंगल यूज प्लास्टिक बैन किया। डिस्पोजल के स्थान पर बर्तन बैंक और थैलियों के विकल्प में झोला बैंक शुरू किया।

रेवेन्यू कलेक्शन: इंदौर ने कचरा प्रबंधन शुल्क के 40 करोड़ वसूले। यह वह शिखर था, जिसे कोई दूसरा शहर छू भी नहीं सका। यहां तक नं. 2 रहे भोपाल में भी कचरा प्रबंधन शुल्क 15 करोड़ से ज्यादा नहीं बताया गया।

आज घर-घर दीप जलेंगे, कल सफाईकर्मियों का सम्मान

चौथी बार नंबर-1 बनने पर इंदौर में जश्न मनाया जाएगा। इसकी तैयारियां सांसद शंकर लालवानी द्वारा करवाई जा रही हैं। घोषणा होने से पहले ऐसे लोगों को बुलाया, जिनके सोशल मीडिया पर लाखों फॉलोअर्स हैं। ये लोग अपने-अपने प्लेटफॉर्म के जरिए सोशल मीडिया पर ‘सफाई में इंदौर का चौका’ की जानकारी लाइव पहुंचाएंगे।

शाम को घर-घर दीप जलेंगे और थालियां बजाई जाएंगी। सांसद ने लोगों से अपील की है कि शुक्रवार सुबह घर-घर आने वाले सफाईकर्मियों का सम्मान करें। उन्हें माला पहनाकर आरती उतारें और मिठाई खिलाएं। रवींद्र नाट्यगृह में 400 लोगों का समारोह भी होगा। इसमें सभी जोन से सफाईकर्मियों का प्रतिनिधित्व रहेगा।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
ये इंदौर में सफाई की बानगी है। कोई भी मौसम हो, सफाईकर्मी देर रात तक शहर को साफ-सुथरा रखने में जुटे रहते हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Q4Lcke

Post a Comment

Previous Post Next Post