पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि फिलहाल भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज संभव नहीं है। इमरान ने कहा कि दोनों देशों के रिश्ते बेहद तनावपूर्ण हैं, और ऐसे में द्विपक्षीय सीरीज की बात करना डरावना होगा। इमरान पाकिस्तान के पूर्व कप्तान हैं। 1992 में उनकी कप्तानी में ही पाकिस्तान ने विश्व कप जीता था।
इमरान ने उन दो दौरों का भी जिक्र किया। जब वो पाकिस्तान टीम के साथ भारत गए थे। 1987 के इंडिया टूर पर इमरान ने कहा- तब मेरे प्लेयर्स को बाउंड्री पर हेल्मेट लगाकर फील्डिंग करनी पड़ी थी।

मैदान पर भी हालात अच्छे नहीं होंगे
पाकिस्तान टीम आखिरी बार 2012 में भारत आई थी। तब दो टी-20 और तीन वनडे इंटरनेशनल खेले गए थे। ऑस्ट्रेलिया के एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में इमरान से भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट सीरीज पर सवाल पूछा गया। इस पर खान ने कहा- फिलहाल, ये बिल्कुल मुमकिन नहीं है। जिस तरह के हालात हैं, उसमें क्रिकेट खेलना भयावह होगा। मैदान पर भी हालात अच्छे नहीं होंगे।

दो दौरों का जिक्र
एक सवाल के जवाब में इमरान ने कहा- मैं दो बार भारत दौरे पर गया। पहली बार 1979 में और दूसरी बार 1987 में। पहली बार गया तब भी तनाव था। लेकिन, दोनों सरकारें इसे कम करने की कोशिश कर रहीं थीं। इसलिए माहौल बहुत अच्छा था। दूसरी बार यानी 1987 में हालात बहुत खराब थे। दोनों देशों के बीच काफी तनाव था। इसका असर मैदान पर दिखा। मेरे प्लेयर्स को बाउंड्री लाइन पर हेल्मेट लगाकर फील्डिंग करनी पड़ी, क्योंकि दर्शक पत्थर फेंक रहे थे।

खुद के मुल्क की तारीफ
इमरान ने टीम इंडिया के 2005 के पाकिस्तान दौरे को बेहद कामयाब बताते हुए सिर्फ अपने मुल्क और दर्शकों की तारीफ की। कहा- 2005 में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को उसी के घर में हराया। दर्शक टीम इंडिया की तारीफ कर रहे थे। उस वक्त माहौल बेहद शानदार था। मैं मानता हूं कि भारत और पाकिस्तान की सीरीज एशेज से भी बेहतर होती है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
1982 के इंग्लैंड दौरे में गेंदबाजी करते इमरान खान। इस साल इमरान ने 13.29 के औसत से कुल 62 विकेट लिए थे। (फाइल)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3iMNsZJ

Post a Comment

Previous Post Next Post