आज युवा दिवस है। 12 जनवरी वाला नहीं 12 अगस्त वाला। इससे पहले कि आप अपने दिमाग पर जोर डालें हम आपको बता दें कि इन दोनों में अंतर क्या है। हमारे देश में स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन यानी 12 जनवरी को युवा दिवस मनाया जाता है। लेकिन, दुनिया 12 अगस्त को विश्व युवा दिवस मनाती है।

अब बात करते हैं युवा की। सबसे पहले ये जान लीजिए कि युवा किसे कहते हैं। तो इसकी भी अलग-अलग परिभाषाएं हैं। आप कहेंगे कि मैं आपको कन्फ्यूज कर रहा हूं। जी नहीं, मैं आपको सिर्फ फैक्ट्स बता रहा हूं। अगर आप भारत में रहते हैं और आपकी उम्र 15 से 30 साल के बीच है तो आप युवा हैं। अगर किसी अफ्रीकी देश में रहते हैं और आपकी उम्र 15 से 35 साल तक है तो आप युवा हैं। लेकिन, यूएन यानी यूनाइटेड नेशन्स के मुताबिक अगर आप अपना 25वां जन्मदिन मना चुके हैं तो आप युवा नहीं हैं।

अब बात उन बातों की जो हमारे देश में बोली, मानी और कही जाती हैं। कोई 40 साल तक तो कोई 45 साल तक के लोगों को युवा कहता है। हमारे नेता तो 60 साल तक खुद को युवा बताते हैं। बातों की बात का क्या क्योंकि फिल्म ‘102 नॉटआउट’ वाले अमिताभ तो 102 साल की उम्र में भी अपने 70 साल के बेटे से युवा थे। बातों की बात यहीं छोड़कर चलिए फैक्ट्स की ओर चलते हैं।

सबसे पहले यूएन के लिहाज से समझिए हमारा देश कितना युवा है? दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला चीन हमारे मुकाबले कहां है?

दुनिया में सबसे ज्यादा यूथ भारत में ही रहते हैं। सबसे ज्यादा आबादी वाले चीन से भी 47% ज्यादा। हमारे देश में इस वक्त 138 करोड़ लोग हैं। इनमें से 25 करोड़ 15 से 25 साल के बीच हैं। यानी, कुल आबादी का 18% से ज्यादा। वहीं, चीन में सिर्फ 17 करोड़ लोग ऐसे हैं जो यूएन के नॉर्म के मुताबिक युवा हैं। मतलब चीन की कुल आबादी 144 करोड़ के हिसाब से वहां 12% लोग ही युवा हैं।

भारत सरकार जिन्हें युवा मानती है उस लिहाज से समझिए अपने देश में कितने युवा? जानिए, इस लिहाज से हम चीन से कितना आगे हैं?

2014 तक हमारे देश की सरकार 13 से 35 साल तक के लोगों को युवा मानती थी। 2014 में नेशनल यूथ पॉलिसी आई और युवा की परिभाषा बदल गई। अब 15 साल से ज्यादा और 30 साल से कम उम्र के ही लोग ही सरकारी रिकॉर्ड में युवा माने जाते हैं। इस लिहाज से देश में 37 करोड़ युवा हैं। यानी, कुल आबादी की करीब 27% फीसदी पॉपुलेशन यूथ की है। वहीं, चीन में ऐसे 27 करोड़ लोग हैं। यानी, चीन की कुल आबादी का करीब 19%।

चीन जिन्हें युवा मानता है उस लिहाज से समझिए अपने देश में कितने युवा हैं? और हम चीन से कितना आगे हैं?

चीन ने 2017 में अपना यूथ डेवलपमेंट प्लान जारी किया। इसमें 35 साल तक के लोगों को युवा माना गया। दक्षिण अफ्रीका समेत अधिकांश अफ्रीकी देश भी 35 साल तक के लोगों को युवा मानते हैं। इस लिहाज से भारत में करीब 48 करोड़ यूथ पॉपुलेशन है। यानी, कुल आबादी के करीब 35% लोग युवा हैं। वहीं, चीन में ऐसे 40 करोड़ लोग हैं। यानी चीन की कुल आबादी के करीब 28% लोग युवा हैं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
China Vs India Youth Population Compared; World Youth Day 2020 | Know What Age Group Has The Largest Population Of India and China


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fQTHtz

Post a Comment

Previous Post Next Post