अमेरिका के व्हाइट हाउस से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने संदेश दिया कि वो अकेले समाजवाद,अराजकता और अतिवाद जैसी ताकतों के खिलाफ दीवार बनकर खड़े हैं। ट्रम्प ने कहा कि अगर जो बाइडेन राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो अमेरिकन ड्रीम तबाह हो जाएगा। रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में दूसरी बार राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी स्वीकार करने के बाद ट्रम्प ने कहा- बाइडेन का एजेंडा ‘मेड इन चाइना’ और मेरा ‘मेड इन अमेरिका’ है।

इस चुनाव से तय होगा कि हम अमेरिकन ड्रीम को बचाते हैं या एक समाजवादी एजेंडे को मेहनत से बनाई तकदीर तबाह करने की अनुमति देते हैं। संबोधन में ट्रम्प ने कहा कि हमें तय करना होगा कि कानून का पालन करने वाले अमेरिकियों की रक्षा करेंगे, या उन्हें धमकाने वाले हिंसक, अराजक आंदोलनकारियों को खुली छूट देंगे।

ट्रम्प बोले-

  • इसी साल सुरक्षित, प्रभावी वैक्सीन लाएंगे। 3 वैक्सीन फाइनल ट्रायल पर हैं। एडवांस में उनका उत्पादन कर रहे हैं।
  • हम अमेरिकी महत्वाकांक्षा के नए युग का आगाज करेंगे। अमेरिका चांद पर पहली महिला को उतारेगा।

कोरोना, नस्लवाद जैसे मुद्दों के बजाय बाइडेन पर हमले और अपनी उपलब्धियां बताते रहे ट्रम्प

झूठ हावी: 25 मुद्दों पर बोले; 5 ही सच्चे , 4 झूठे, 9 पर गुमराह किया, 7 बढ़ाकर बताए

70 मिनट के संबोधन में ट्रम्प ने 25 मुद्दों पर अपनी बात रखी। न्यूयॉर्क टाइम्स के विश्लेषण के मुताबिक इनमें 5 ही सच थे। 4 पूरी तरह झूठे निकले, 7 को उन्होंने बढ़ा-चढ़ाकर बताया, वहीं 9 मुद्दों पर लोगों को गुमराह किया। ट्रम्प यह बताने की कोशिश करते रहे कि कोराना पर पूरी तरह नियंत्रण पा लिया गया है, लेकिन हकीकत इससे उलट है। ट्रम्प का संबोधन कोरोना के बजाय बाइडेन और खुद की उपलब्धियों के बखान पर केंद्रित रहा।

अतीत भूले: 36 साल पार्टी का झंडा बुलंद करने वाले नहीं दिखे, ऐसा पहली बार हुआ

1980 से 2016 तक रिपब्लिकन पार्टी का नेतृत्व करने वाले पार्टी के वरिष्ठ नेता, पूर्व राष्ट्रपति, पूर्व उप राष्ट्रपति सम्मेलन से गायब रहे। यानी बुश, चेनी और बेकर्स मेें से कोई नहीं दिखा। कोडोंलिजा राइस भी नहीं थीं। विश्लेषकों का मानना है कि ट्रम्प ने उनसे पूरी तरह किनारा कर लिया। सीनेट में बहुमत के नेता मिच मैक्कॉनेल, अल्पसंख्यक नेता कैविन मैक्केर्थी को भी मंच पर जगह नहीं दी गई। कन्वेंशन के दौरान 10 घंटे के अलग-अलग भाषण में ट्रम्प ने सिर्फ बुश और रीगन का नाम लिया।

डेमोक्रेट कन्वेंशन को ज्यादा लोगों ने देखा: सर्वे

रिपब्लिकन कन्वेंशन को पहले दिन 1.7 करोड़ और दूसरे दिन 1.8 करोड़ लोगों ने टीवी पर देखा। जबकि 2016 के चुनाव में शुरुआती दो दिनों में दर्शक 1.9 करोड़ से ज्यादा थे।वहीं डेमोक्रेटिक पार्टी की कन्वेंशन को चारों दिन अमेरिका में औसत 22 करोड़ लोगों ने रोज देखा। नीलसन ने यह सर्वे किया है।

टूटी परंपरा: राजनीतिक फायदे के लिए ट्रम्प ने व्हाइट हाउस का इस्तेमाल किया

ट्रम्प का भाषण व्हाइट हाउस का लॉन में हुआ। विशुद्ध रूप से राजनीतिक घटनाओं के लिए व्हाइट हाउस का इस्तेमाल नहीं होने की परंपरा और नियमों को ताक पर रख दिया गया। मेहमानों में डिस्टेंसिंग नहीं दिखी और ना ही मास्क लगाना जरूरी समझा गया। अमेरिका में नस्लीय हिंसा चरम पर है और चुनाव में बड़ा मुद्दा भी। पर ट्रम्प ने इस मामले में अफ्रीकन-अमेरिकन समुदाय से वादा किया कि सर्वश्रेष्ठ स्थिति का आना अभी बाकी है।

विपक्ष का हमला: बाइडेन का ट्वीट: खुद से पूछिए- ट्रम्प के अमेरिका में कितने सुरक्षित

ट्रम्प ने भाषण में कहा कि बाइडेन के अमेरिका में कोई भी सुरक्षित नहीं रहेगा। इस पर बाइडेन ने ट्वीट किया- जब ट्रम्प ने कहा कि आप बाइडेन के अमेरिका में सुरक्षित नहीं रहेंगे, तो आसपास देखिए और खुद से पूछिए- ट्रम्प के अमेरिका में कितना सुरक्षित महसूस करते हैं? वहीं उप राष्ट्रपति पद की प्रत्याशी कमला हैरिस ने भी ट्रम्प पर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि ट्रंप अमेरिकियों को कोरोना से बचा नहीं पाए। चीनी सरकार पर जब अमेरिका को सख्त होने की जरूरत थी तो तब उस समय वह छुपकर बैठ गए थे।

अमेरिका के अहम मुद्दे: ट्रम्प VS बाइडेन

डोनाल्ड ट्रम्प

  • दावा करते हैं कि कोरोना पूरी तरह नियंत्रण में, कई देशों से अच्छी स्थिति। जबकि 60 लाख मरीज हैं। 1.84 लाख मौतें हो चुकी हैं।
  • ओबामाकेयर के सख्त विरोधी, इसे कमजोर बनाने में जुटे हैं। पर अब तक इसका कोई किफायती विकल्प नहीं दे सके।
  • व्हाइट हाउस में बहुत कम अश्वेत सलाहकार। अश्वेतों की बढ़ती बेरोजगारी पर बात नहीं करते। सजा घटाने के पक्ष में।
  • पेरोल पर टैक्स कट का वादा, महामारी के दौर से पहले की अर्थव्यवस्था बनाएंगे। नौकरियां, निर्माण देश में वापस लाएंगे।
  • इमिग्रेशन कम करेंगे। मैक्सिको सीमा पर दीवार बनवा रहे। वीसा लॉटरी, चेन माइग्रेशन खत्म कर मेरिट आधारित एंट्री कर देंगे।

बाइडेन

  • नेशनल ट्रेसिंग प्रोग्राम का प्रस्ताव, मुफ्त टेस्टिंग हो, 1 लाख लोगों को काम में लगाएं। हर राज्य में 10 सेंटर रखने के पक्ष में।
  • ओबामाकेयर को आगे बढ़ाएंगे, 10 साल में 5.5 लाख करोड़ रु. खर्च का प्रस्ताव। 97% अमेरिकियों को दायरे में लाएंगे।
  • कैबिनेट में देश की विविधता दिखाने का वादा। अल्पसंख्यकों के लिए 1500 करोड़ रुपए का अनुदान फंड बनाएंगे।
  • कॉर्पोरेट्स को ज्यादा छूट देने के खिलाफ। न्यूतनत आय बढ़ाने की वकालत। टैक्स कट के खिलाफ, कर्ज माफी रोक देंगे।
  • इमिग्रेशन बढ़ाना चाहते हैं क्योंकि इनसे रोजगार पैदा होते हैं। राष्ट्रपति बने तो पहले 100 दिन में ट्रम्प की नीतियां पलट देंगे।

मां-बेटी की मुलाकात चर्चा में

डोनाल्ड ट्रम्प की पत्नी मेलानिया और बेटी इवांका की मुलाकात चर्चा में रही। मेलानिया सौतेली बेटी से मिलते ही पहले मुस्कुराईं। फिर आंखें टेढ़ी कर खड़ी हो गईं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
रिपब्लिकन पार्टी के कन्वेंशन के आखिरी दिन राष्ट्रपति ट्रम्प पत्नी मेलानिया और परिवार के सदस्यों के साथ पहुंचे तो आतिशबाजी हुई।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/32DMiJB

Post a Comment

Previous Post Next Post