दुनिया के नंबर एक फुटबॉल खिलाड़ी लियोनेल मेसी को कई मौकों पर लोग धीमा खिलाड़ी कह देते हैं। 23 दिसंबर 2017 में रियल मैड्रिड और बार्सिलोना के बीच हुए मैच में मेसी कुल 8 किलोमीटर दौड़े, लेकिन इसमें 83 फीसदी वह वॉक करते रहे।

हालांकि मेसी के एक गोल के साथ बार्सिलोना यह मैच जीत गई। खेल पत्रकारों का कहना है कि मेसी की यही तकनीक उन्हें दुनिया का महान खिलाड़ी बनाती है। कई नामी खिलाड़ी जहां ज्यादा भागते हैं, वहीं मेसी कम दौड़ते हैं। 2014 में फीफा विश्वकप के दौरान पत्रकारों ने कहा कि सिर्फ मेसी ही हैं, जो दूसरे खिलाड़ियों से कम दौड़कर भी मैच जिता सकते हैं।

एक कॉमेन्टेटर ने कहा कि मेसी किसी मशीन की तरह सही क्षणों के लिए अपनी ऊर्जा बचाकर रखते हैं। मेसी अपने पास बॉल कम से कम रखते हैं, साथी खिलाड़ियों को लय में रखते हैं। वह अपनी आंखों से इशारा करके भी हारे हुए मैच में जान डाल देते हैं। खेल पत्रकार क्रिस्टीन क्यूबोरो के अनुसार मेसी अपनी आंखों से ही पूरी टीम को इशारा करके एकजुट कर लेते हैं और विरोधी टीम चित्त हो जाती है।

33 साल के लियोनेल मेसी 4 साल की उम्र से फुटबॉल खेल रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि बार्सिलोना से अपना 20 साल पुराना रिश्ता खत्म कर वह इंग्लैंड के मैनचेस्टर यूनाइटेड एफसी से जुड़ सकते हैं।

कॅरिअर : ग्यारह साल लगे 10 नंबर की जर्सी हासिल करने में
मेसी की जर्सी का नंबर 10 है। फुटबॉल में जर्सी नंबर का संबंध प्रतिष्ठा से जुड़ा होता है। बार्सिलोना से जुड़ने के बाद मेसी 30 नंबर की जर्सी पहनते थे। मेसी ने सीनियर प्लेयर के तौर पर कॅरिअर का पहला गोल इसी जर्सी के साथ किया। बाद में टीम में रेगुलर हो जाने के बाद वह 19 नंबर की जर्सी पहनने लगे। 24 जुलाई 2008 को स्कॉटलैंड के क्लब हिबरनियन के खिलाफ मैच में पहली बार मेसी ने 10 नंबर की जर्सी पहनी। बार्सिलोना में इससे पहले महान खिलाड़ी रोनाल्डिन्हो यह जर्सी पहनते थे।

परिवार : मैनेजमेंट भाई-पिता के पास, मां चैरिटी देखती हैं
मेसी की बचपन में ऊंचाई औसत से कम थी। हॉर्मोन्स के कारण शारीरिक विकास बाधित हो रहा था। उनके इलाज का सारा खर्च बार्सिलोना ने उठाया। शुरुआत में उन्हें पैरों में रोज इंजेक्शन तक लगवाना पड़ता था। मेसी परिवार में अपनी मां के बहुत करीब हैं। उन्होंने अपने बाएं कंधे पर मां के चेहरे का टैटू बनवा रखा है। मेसी का पूरा परिवार मिलकर उनका मैनेजमेंट देखता है। मेसी जब 14 साल के थे, तब से उनके पिता जॉर्ज उनके एजेंट हैं। बड़ा भाई रोड्रिगो, मेसी का डेली शेड्यूल और पब्लिसिटी देखता है। मां चैरिटी के काम देखती हैं।

डाइट प्लान : मैच के 10 दिन पहले डाइट में बदलाव कर देते हैं
मेसी मैच से 10 दिन पहले डाइट प्लान बदल देते हैं। वे कार्बोहाइड्रेट लेना कम कर देते हैं और प्रोटीन की मात्रा बढ़ा देते हैं। दिन में तीन प्रोटीन शेक लेते हैं और कम से कम 8-10 गिलास पानी पीते हैं। मैच के पांच दिन पहले हर मील के पहले वेजीटेबल सूप पीते हैं। मैच के एक दिन पहले फिश, चिकन, प्राॅन्स, आलू, हरी सब्जियां और ऑरेंज खाते हैं। मैच के 6 घंटे पहले मेसी एग व्हाइड, प्रोटीन और कार्ब लेते हैं। मैच के डेढ़ घंटे पहले वह केले, आम और सेब लेते हैं।

मेसी के वर्कआउट रूटीन की बात की जाए तो उसमें रनिंग, एक्सरसाइज, वेटलिफ्टिंग शामिल हैं। उनकी डाइट में 5 चीजें सबसे जरूरी थीं- पानी, ऑलिव ऑयल, होल ग्रेंस, ताजे फल और सब्जियां। इसके अलावा नट्स और सीड्स। इस डाइट से मसल्स रिकवरी जल्दी होती है। वह दिन में तीन बार प्रोटीन शेक जरूर लेते हैं। ऐसी भी खबरें हैं कि मेसी 2018 वर्ल्ड कप में हारने के बाद पूरी तरह से वीगन डाइट लेने लगे थे।

जन्म- 24 जून 1987 (अर्जेंटीना)
शिक्षा- बारहवीं
पत्नी- एंटोनेला रोकुजो
संपत्ति- 761 करोड़ रु (फोर्ब्स के अनुसार)

रिकार्ड

बार्सिलोना मैच
606,गोल- 634
इंटरनेशनल मैच
138, गोल-70

कुल गोल- 704, हैट्रिक- 48
कुल अवॉर्ड- 75, फीफा वर्ल्ड प्लेयर 2014, वर्ल्ड कप गोल्डन बॉल 2014, बैलन डी'ओर- 5 बार
टीम अवॉर्ड- अंडर 20 वर्ल्ड कप 2005, ओिलंपिक गोल्ड 2008, फीफा वर्ल्ड कप फाइनलिस्ट- 2014

बार्सिलोना के साथ 20 साल का सफर
2000 दिसंबर : बार्सिलोना यूथ कॉन्ट्रैक्ट साइन किया।
2004 मई : पहली बार ला लिगा टाइटल जीता।
2005 जून : सीनियर टीम प्लेयर के तौर पर कॉन्ट्रैक्ट साइन किया।
2012 मार्च : 231 गोल के साथ एफसी बार्सिलोना क्लब के टॉप स्कोरर बन गए।
2018 अगस्त : बार्सिलोना के कप्तान चुने गए।
2020 अगस्त 25 : बार्सिलोना छोड़ने की घोषणा कर दी।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
पत्नी एंटोनेला और तीन बेटे थिएगो, किरो और मेटेओ के साथ मेसी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2QBB9TP

Post a Comment

Previous Post Next Post