दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच यूएस ओपन के लिए अपनी हेल्थ पर बारीकी से नजर रखे हुए हैं। वे कोरोना की वैक्सीन के खिलाफ नहीं हैं। लेकिन खेलने के लिए वैक्सीन की अनिवार्यता के खिलाफ हैं। उनका यह भी कहना है कि जून में एड्रिया टूर का आयोजन उन्होंने अच्छे इरादे से किया था। लेकिन, वह कोरोनावायरस क्लस्टर बन गया।

सर्बिया के जोकोविच 31 अगस्त से शुरू होने वाले टेनिस ग्रैंड स्लैम यूएस ओपन में हिस्सा ले रहे हैं। वे परिवार के बिना न्यूयॉर्क गए हैं। उनका इस साल जीत-हार का रिकॉर्ड 18-0 का है। जोकोविच ने तीन बार यूएस ओपन जीता है। वे पिछले 7 ग्रैंड स्लैम में से 5 में चैंपियन बने हैं।

एड्रिया टूर पर: मेरे इरादे सही थे, अगर मौका मिला तो दोबारा आयोजित करूंगा

जोकोविच ने जून में सर्बिया और क्रोएशिया में चैरिटी एग्जिबीशन सीरीज एड्रिया टूर का आयोजन किया था। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हुआ था। इस वजह से कोरोना के केस बढ़ गए थे। जोकोविच की बहुत आलोचना हुई थी।

जोकोविच ने कहा, “यह टूर लोअर-रैंक के खिलाड़ियों की मदद करने के लिए था। इसमें सरकार और टेनिस फेडरेशन का सहयोग था। हमने अच्छे इरादों के साथ कुछ करने की कोशिश की थी। लेकिन क्या उस एक गलती की वजह से मुझे हमेशा दोषी ठहराया जाएगा? मैंने अपनी गलती स्वीकार ली है। अगर मुझे फिर से एड्रिया टूर आयोजित करने का मौका मिला, तो मैं जरूर करूंगा। लेकिन आप इस पूरे मामले के लिए सिर्फ एक इंसान को कैसे गलत ठहरा सकते हैं।’

कोरोनावायरस पर कहा- हमें नहीं पता कि हम किस चीज से डील कर रहे हैं
एड्रिया टूर के दौरान जोकोविच और उनकी पत्नी जेलेना समेत कई खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ पॉजिटिव हो गए थे। जोकोविच ने बताया, “मेरे काेरोनावायरस के लक्षण बहुत कम थे। बुखार नहीं था। लेकिन थकान थी, सूंघने और स्वाद पहचानने की क्षमता कम हो गई थी।’’

उन्होंने कहा, “जब प्रैक्टिस के लिए वापसी की तो स्टेमिना कम हो गया था। मैंने न्यूयॉर्क आने के पहले चेस्ट का सीटी स्कैन कराया, जो सही था। कोरोना निगेटिव आने के बाद कई टेस्ट किए। ब्लड टेस्ट, यूरिन टेस्ट वह सब किया जो संभवत: कर सकता था। मैं बचाव के हर तरह के उपचार कर रहा हूं, क्योंकि हमें नहीं पता कि हम किस चीज से डील कर रहे हैं।’’

कोरोना वैक्सीन पर: वैक्सीन अनिवार्य हो जाती है तो खेलना मुश्किल हो जाएगा
कोरोना वैक्सीन पर जोकोविच ने कहा, “मुझे भी कोरोना हुआ था। इसके बावजूद मैंने वैक्सीन को लेकर अपने विचार नहीं बदले हैं। अगर खेलने के लिए कोरोना वैक्सीन अनिवार्य हो जाती है, तो खेलना मुश्किल हो जाएगा। इंटरनेशनल मीडिया कह रही है कि मैं वैक्सीन के खिलाफ हूं। लेकिन ऐसा नहीं है। मैं कौन होता हूं वैक्सीन के बारे में बोलने वाला। ऐसे लोग हैं जो चिकित्सा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं और दुनियाभर में लोगों को बचा रहे हैं। मैं जबर्दस्ती वैक्सीन लगवाने के खिलाफ हूं। अगर खेल के लिए वैक्सीन अनिवार्य कर दी गई, तो मुझे यह अस्वीकार्य होगी।’’

यूएस ओपन पर: नियमों का पालन करते हुए टूर्नामेंट में हिस्सा लूंगा
जोकोविच ने कहा, “पहले मैं न्यूयॉर्क नहीं आ रहा था। लेकिन यूरोपियन सरकार के उस निर्णय के बाद मैंने आने का फैसला किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि यूएस ओपन में खेलने वाले खिलाड़ियों को वापस आने पर क्वारैंटाइन नहीं होना पड़ेगा। बहुत अनिश्चितताएं थीं। अभी भी हैं। मैं खेलना चाहता था, इसलिए मैं यहां हूं। मैं अपने स्वास्थ्य को लेकर सतर्क हूं। मैं नियम और प्रतिबंधों का सम्मान करता हूं। ऑन कोर्ट और ऑफ कोर्ट कुछ भी हो सकता है।’’

जोकोविच पहले वेस्टर्न एंड साउदर्न ओपन में हिस्सा लेंगे। इसके बाद यूएस ओपन खेलेंगे। वेस्टर्न एंड साउदर्न ओपन सिनसिनाटी में होता था। लेकिन अब यह भी यूएस ओपन के वैन्यू न्यूयॉर्क में ही होगा। वे सिंगल्स-डबल्स दोनों में उतरेंगे।

बड़े खिलाड़ियों के न खेलने पर: टूर्नामेंट के दौरान फेडरर-नडाल को याद किया जाएगा
33 साल के जोकोविच का यह 61 ग्रैंड स्लैम में पहला मेजर टूर्नामेंट होगा, जब राफेल नडाल और रोजर फेडरर दोनों नहीं खेलेंगे। नडाल ने क्ले कोर्ट को प्राथमिकता दी है जबकि फेडरर घुटने की सर्जरी के कारण पूरे सीजन से हट गए हैं।

जोकोविच ने कहा, “वे खेल के दिग्गज हैं। टूर्नामेंट के दौरान उन्हें बहुत याद किया जाएगा।’’ उन्होंने कहा, “मैं इसलिए प्रोफेशनल टेनिस खेल रहा हूं क्योंकि मैं टेनिस में नई ऊंचाइयां छूना चाहता हूं। फेडरर का 20 ग्रैंड स्लैम जीतने का और 310 हफ्ते तक नंबर-1 पर बने रहने का रिकॉर्ड तोड़ना मेरा शुरुआती लक्ष्य है।’’ जोकोविच 282 हफ्ते से नंबर-1 हैं। उन्होंने कहा- एक टॉप खिलाड़ी के रूप में मेरी जिम्मेदारी है कि खेल को आगे बढ़ाऊं, इसलिए मैं इस टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहा हूं।

- न्यूयॉर्क टाइम्स से विशेष अनुबंध के तहत



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
जोकोविच 282 हफ्ते से नंबर-1 हैं। -फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3j1BPhC

Post a Comment

Previous Post Next Post