राजधानी दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस की तैयारी जोरों पर हैं। गुरुवार को जवानों द्वारा लाल किले पर फुल ड्रेस रिहर्सल की गई। हालांकि रिहर्सल के दौरान तेज बारिश शुरू हो गई, लेकिन सुरक्षाबलों का हौसला नहीं डिगा और तेज बारिश में भी जवानों ने रिहर्सल पूरी की। कोरोना संकट के कारण इस बार 15 अगस्त के आयोजन की खास तैयारी की गई है।

इस बार मेहमानों की संख्या में कटौती की गई है। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए लोगों को दूर-दूर बैठाने की योजना है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए ओपन पास जारी नहीं किए जा रहे हैं। इसके अलावा लोगों के बैठने और कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा व्यवस्था में बदलाव भी किए गए।

150 मेहमान होंगे शामिल

फोटो नई दिल्ली के रायसीना हिल्स की है। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर गुरुवार को इसे कुछ इस तरह सजाया गया। वहीं इस बार लालकिले की प्राचीर के दोनों तरफ सिर्फ 150 मेहमान होंगे, पहले 300 से 500 होते थे। तीनों सेनाओं के जवान पीएम मोदी को गार्ड ऑफ ऑनर देंगे। इनमें करीब 22 जवान और अफसर होंगे। राष्ट्रीय सैल्यूट में इनकी संख्या 32 रहेगी। कोरोना के कारण जवान चार पंक्तियों में खड़े होंगे और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को बनाए रखेंगे।

अंडर पास और सड़कों पर पानी भरने से लगा लंबा जाम

राजधानी दिल्ली और आस-पास के इलाकों में बुधवार देर रात शुरू हुई बारिश गुरुवार को पूरे दिन रुक-रुक कर होती रही। जिसके चलते पूरे दिन-एनसीआर का मौसम सुहावना हो गया। लगातार बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत तो मिली लेकिन दिल्ली हुई फिर से पानी-पानी हो गई। जिसके चलते लोगों को परेशानी का भी सामना करना पड़ा।

3 इलाकों में आधा किमी में कई बस्तियां और सड़कें डूबीं

सूरत में मंगलवार शाम 7 बजे से चला तेज बारिश का दौर तीसरे दिन गुरुवार को भी जारी रहा। इन 60 घंटे में शहर में 9.89 इंच बारिश दर्ज की गई। मीठी खाड़ी और सीमाड़ा खाड़ी ओवर फ्लो हो गईं और काकरा, भेदवाड और भाठेना खाड़ी भी खतरे के निशान पर बह रही हैं। पर्वत पाटिया, फूलपाड़ा, हलपति वास के इलाकों में आधा किलोमीटर से ज्यादा इलाकों में बसी आबादी जलमग्न हो गई।

जान जोखिम में डालकर निकल रहे लोग

अगस्त का दूसरा पखवाड़ा शुरू होने के पहले प्रदेश भर में बारिश का दौर शुरू हो गया है। प्रदेश के 40 जिलों में कहीं तेज तो कहीं धीमी बारिश हुई। बीते 24 घंटे में सतना, पन्ना, बालाघाट, आलीराजपुर, विदिशा समेत कई जिले तेज बारिश में भीगे। कुछ जगह 3 से 5.2 इंच तक बारिश हो गई। दतिया जिले के भांडेर ब्लॉक में भी तेज बारिश हुई। यहां से निकली पहूज नदी उफान पर आ गई है। इस कारण भांडेर मोंठ रोड पर बना रपटा सीजन में पहली बार पानी में डूब गया।

चारों तरफ दिखने लगी हरियाली

सावन सूखा बीता, अब भादो में मानसून मेहरबान है। चार दिन से चित्तौड़गढ़ में बारिश चल रही है। इससे किसानों के चेहरे खिल गए हैं। फसलों को जीवनदान मिला। चारों तरफ हरियाली छाने लगी है। दुर्ग की तलहटी में इन दिनों चारों तरफ हरियाली दिखने लगी है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
During the rehearsals at the Red Fort, attention was given to social distancing; The festival of independence will be celebrated for the first time with a mask, distancing


from Dainik Bhaskar /local/delhi-ncr/news/during-the-rehearsals-at-the-red-fort-attention-was-given-to-social-distancing-the-festival-of-independence-will-be-celebrated-for-the-first-time-with-a-mask-distancing-127616226.html

Post a Comment

Previous Post Next Post