क्या वायरल : सोशल मीडिया पर कश्मीर के लाल चौक की एक फोटो वायरल हो रही है। इसमें लाल चौक पर तिरंगा लहराता दिख रहा है। फोटो को इसी साल का बताकर शेयर किया जा रहा है।

  • कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद यह पहला स्वतंत्रता दिवस है। 5 अगस्त, 2019 को लोकसभा से जम्मू-कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा देने वाली धारा 370 हटने का अध्यादेश पास हुआ था। अध्यादेश पर राष्ट्रपति की मुहर लगने के बाद दो नए केंद्र शासित प्रदेशों का गठन हुआ। पहला जम्मू- कश्मीर और दूसरा लद्दाख। इससे पहले ये दो केंद्र शासित प्रदेश एक ही राज्य माने जाते थे। जिसका नाम था जम्मू-कश्मीर।

वायरल फोटो

  • भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने 14 अगस्त को फोटो ट्वीट की
  • अभिनेत्री और भाजपा नेता किरण खैर ने भी फोटो को ट्वीट किया
  • लद्दाख के सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल ने फोटो का अगस्त, 2019 के बाद हुए बदलाव का प्रतीक बताकर ट्वीट किया
  • News Nations वेबसाइट पर लाल चौक पर तिरंगे की इस फोटो को साल 2020 का बताकर पब्लिश किया गया है।
  • बड़ी हस्तियों के बाद अन्य यूजर भी फोटो को सोशल मीडिया पर साल 2020 का बताकर शेयर करने लगे

फैक्ट चेक पड़ताल

फोटो को सोशल मीडिया पर इस तरह शेयर किया जा रहा है, जैसे यह इसी साल मनाए गए स्वतंत्रता दिवस की हो। जबकि कपिल मिश्रा ने ही 14 अगस्त को यह फोटो ट्वीट की है। इससे यह तो स्पष्ट होता है कि फोटो 15 अगस्त की नहीं है। फोटो अगर 15 अगस्त की नहीं तो कब की है ? इसकी पड़ताल के लिए हमने गूगल और येंडेक्स के ‘रिवर्स इमेज सर्च टूल’ की मदद ली।

10 साल पुरानी है फोटो

फोटो को रिवर्स सर्च करने पर 10 साल पहले लिखा गया एक ब्लॉग हमारे सामने आया। यह ब्लॉग कश्मीर के स्वतंत्र पत्रकार मुवश्शिर मुस्ताख ने लिखा है। ब्लॉग में वही फोटो है, जो साल 2020 में शेयर की जा रही है।

10 साल पुराने ब्लॉग के साथ जो फोटो है, उसमें तिरंगा नहीं है। अब सवाल यह है कि जब फोटो में तिरंगा नहीं है, तो फिर यह कैसे कहा जा सकता है कि फोटो वही है ? दरअसल, जिस फोटो में लाल चौंक पर तिरंगा फहर रहा है। उसका 10 साल पुराने ब्लॉग की फोटो से हमने मिलान किया। दोनों तस्वीरों को गौर से देखने पर उनके तीन पहलुओं से स्पष्ट हो रहा है कि ये एक ही फोटो है।

  1. तिरंगे वाली फोटो में भी लाल चौक के सामने से एक शख्स गुजर रहा है और ब्लॉग की 10 साल पुरानी फोटो से भी। स्पष्ट दिख रहा है कि दोनों तस्वीरों में एक ही शख्स है।
  2. तिरंगे वाली फोटो में लाल चौक पर दाईं तरफ कुछ चार पहिया वाहन दिख रहे हैं। 10 साल पुरानी फोटो में भी इन वाहनों की पोजिशन बिल्कुल एक जैसी है।
  3. यह संभव नहीं है कि दो अलग-अलग तस्वीरों में एक ही शख्स सामने से गुजरता दिखे, एक ही रंग के वाहन एक ही स्थिति में दिखें। वो भी तब जब फोटो में 10 साल का फासला है। स्पष्ट है कि बिना तिरंगे के लाल चौंक वाली फोटो की बाद में एडिटिंग करके तिरंगा जोड़ा गया है।

लाल चौक की नई फोटो से मेल नहीं खा रही वायरल फोटो

यह तो साबित हो गया कि वायरल हो रही फोटो 10 साल पुरानी है और इसे एडिट किया गया है। अब पड़ताल के अगले चरण में हमने लाल चौक की हाल ही की तस्वीरें ढूंढनी शुरू कीं। धारा 370 हटने के बाद की कोई फोटो। Getty Images की वेबसाइट पर हमें 19 अगस्त, 2019 की खींची गई एक फोटो मिली। यानी धारा 370 हटने से 14 दिन बाद की।

अगस्त, 2019 की फोटो का हमने वायरल हो रही फोटो से मिलान किया। Getty Images की पिछले साल की फोटो में लाल चौक पर दाईं और की इमारत सफेद रंग की है। जबकि वायरल हो रही फोटो में दाईं और वाली इमारत लाल रंग की है। इससे स्पष्ट हो रहा है कि वायरल हो रही फोटो पुरानी ही है। क्योंकि 10 साल पुरानी फोटो में भी इमारत का रंग लाल ही है।

इस साल लाल चौक पर तिरंगा फहरा या नहीं ?

किसी भी न्यूज एजेंसी ने या फिर सरकार ने लाल चौक पर साल 2020 में तिरंगा फहराए जाने से जुड़ी कोई फोटो जारी नहीं की है। इसलिए यह पुष्टि करना मुश्किल है कि तिरंगा फहरा या नहीं।

निष्कर्ष : लाल चौक पर तिरंगे की वायरल हो रही फोटो एडिटेड है। 10 साल पुरानी फोटो से छेड़छाड़ कर लोगों को भ्रमित किया जा रहा है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Fact Check : In the photo, the tricolor is seen flying at Lal Chowk in Kashmir. Actually edited.


from Dainik Bhaskar /no-fake-news/news/fact-check-in-the-photo-the-tricolor-is-seen-flying-at-lal-chowk-in-kashmir-actually-edited-127620177.html

Post a Comment

Previous Post Next Post