24 अक्टूबर 2020 यानी एक हफ्ते पहले, बिहार के शिवहर जिले में जनता दल राष्ट्रवादी पार्टी के उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई। श्रीनारायण सिंह पर 6 केस दर्ज थे। अवैध हथियार के मामले में उन्हें दो साल की सजा भी हो चुकी थी।

श्रीनारायण सिंह अकेले ऐसे उम्मीदवार नहीं थे, जिन पर आपराधिक मामले थे। बल्कि ऐसे और भी हैं। इस बार पहले और दूसरे फेज में 2,529 उम्मीदवार उतरे हैं, जिनमें से 830 यानी 33% पर क्रिमिनल केस दर्ज हैं। इसका मतलब हुआ कि हर तीसरे उम्मीदवार पर क्रिमिनल केस हैं।

5 ग्राफिक्स के जरिए समझें बिहार में पहले दो फेज के उम्मीदवारों में कितने दागी हैं? किस पार्टी ने कितने दागी उतारे हैं?

पहले फेज के 31% और दूसरे फेज के 35% उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस

  • पहले फेज में 1,066 उम्मीदवार हैं। इनमें 30.76% यानी 328 पर क्रिमिनल केस हैं। 22.88% यानी 244 ऐसे उम्मीदवार हैं, जिन पर सीरियस क्रिमिनल केस दर्ज हैं।
  • दूसरे फेज में 1,463 उम्मीदवार हैं। इनमें 34.31% प्रतिशत यानी 502 पर क्रिमिनल केस हैं। 26.58% यानी 389 ऐसे उम्मीदवारों पर सीरियस क्रिमिनल केस हैं।

(इनपुट- एडीआर रिपोर्ट)



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Bihar Election 2020:Criminal background bihar assembly 2020 candidate, anant kumar singh,manoj manjil


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3mKxt0h

Post a Comment

Previous Post Next Post