1. कम्प्यूटर से डिजाइन किए गए कई फर्जी चेहरे इंटरनेट पर दिखाई देने लगे हैं। अपराधी, जासूस, ट्रोल्स और दक्षिणपंथी प्रोपेगंडा में जुटे असली लोग अपनी पहचान छिपाने के लिए ऐसे फोटो का उपयोग कर रहे हैं। क्या कहना है इस विषय पर शोधकर्ता केमिली फ्रांस्वा का? जानने के लिए पढ़ें ये लेख...

सोशल मीडिया पर ऐसे लोगों के फोटो आने लगे जिनका अस्तित्व ही नहीं, ये कंप्यूटर प्रोग्राम से बनते हैं

2. ट्रम्प राष्ट्रपति चुनाव में बाइडेन की जीत स्वीकार नहीं कर रहे हैं। शनिवार की रात ट्रम्प ने चुनाव परिणाम उलटने के लिए राज्यों की विधानसभाओं से अपील की है। इस विषय पर क्या कहना है ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी के नेताओं का? पढ़ें इस लेख में...

डोनाल्ड ट्रम्प की राज्यों से चुनाव नतीजे रद्द करने की अपील

3. कोरोना वायरस से लड़ाई की इस जंग में वैज्ञानिकों ने लैब में बनाया एंटीबॉडी (मिनीबाइंडर) एक ऐसा हथियार, जो वायरस को शरीर की कोशिकाओं में घुसने से रोकता है। इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए पढ़ें ये लेख...

लैब में कोरोना वायरस को मारने वाली एंटीबॉडी बनाई

4. आईटी कंपनी आईबीएम में कार्यरत महिला कंप्यूटर इंजीनियर लिन कॉनवे को अगस्त 1968 में नौकरी से निकाल दिया गया था। कॉनवे ने अपने अधिकारियों को बताया था कि वह किन्नर हैं। 52 साल बाद कंपनी ने अब कॉनवे से माफी मांगी है। पूरी खबर पढ़ें इस लेख में...

आईबीएम ने नौकरी से निकालने के 52 साल बाद माफी मांगी



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Read this week's select stories from The New York Times with just one click 23 november 2020


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3pSSGYk

Post a Comment

Previous Post Next Post