इसे मोदी का स्टाइल कहें या इलेक्शन की स्ट्रैटजी, लेकिन पिछले पांच साल से जहां फेजवाइज इलेक्शन हुए हैं, वहां वोटिंग के दिन मोदी कहीं न कहीं रैली करते ही हैं। ऐसा अक्सर देखने में आया है। जैसे आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार में होंगे। यहां उनकी सहरसा और फारबिसगंज में 2 रैलियां हैं। आज ही 94 सीटों पर वोटिंग भी है।

ऐसा ही 28 अक्टूबर को भी हुआ। इस दिन भी मोदी बिहार में थे और इसी दिन 71 सीटों पर वोटिंग भी थी। भास्कर ने लोकसभा चुनाव और दो विधानसभा चुनावों का एनालिसिस कर ये जानने की कोशिश की कि मोदी की इस स्ट्रैटजी का क्या असर होता है।

बिहार विधानसभा चुनाव 2015

जब रैली की, तब दो फेज में 104 सीटों पर वोट पड़ रहे थे, भाजपा को 25 मिलीं

2015 में बिहार में 5 फेज में विधानसभा चुनाव हुए। पहले फेज यानी 12 अक्टूबर और चौथे फेज यानी 1 नवंबर को 104 सीटों के लिए वोटिंग की गई। दोनों ही दिन मोदी ने कैमूर, जहानाबाद, मधुबनी, कटिहार, मधेपुरा में रैलियां की थीं। असर ये हुआ कि जिन 104 सीटों पर रैलियों के दिन वोटिंग जारी थी, उनमें से भाजपा को 25 हासिल हुईं।

पहला फेज: मोदी ने इस दिन कैमूर और जहानाबाद में रैलियां कीं। इसी दिन 49 सीटों पर वोटिंग हुई थी। जिसमें से भाजपा सिर्फ 5 सीट ही जीत सकी। कैमूर और जहानाबाद में दूसरे फेज में वोटिंग हुई थी। जिसमें से भाजपा कैमूर की सभी चारों सीटें जीतने में कामयाब रही थी, लेकिन जहानाबाद की तीनों सीटें हार गई थी।

चौथा फेज: मोदी ने इस दिन मधुबनी, कटिहार और मधेपुरा में रैली की। इसी दिन 55 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 20 सीटें जीती थीं। मधुबनी, कटिहार और मधेपुरा में 5वें फेज में वोटिंग हुई। भाजपा मधुबनी की 10 में से सिर्फ एक सीट जीत पाई। कटिहार में भी 7 में से 2 सीट ही जीत सकी। जबकि, मधेपुरा की चारों सीटों पर हार गई थी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017

जब रैली की, तब 6 फेज में 363 सीटों पर वोट पड़ रहे थे, भाजपा को 287 मिलीं

2017 में उत्तर प्रदेश विधानसभा की 403 सीटों के लिए 7 फेज में चुनाव हुए थे। पहले फेज की वोटिंग 11 फरवरी और आखिरी फेज की वोटिंग 8 मार्च को हुई। मोदी ने 6 दिन तभी रैलियां कीं, जिस दिन वोटिंग थी।

पहला फेजः 11 फरवरी को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन बदायूं में रैली की। इस दिन 73 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 66 सीटें जीतीं।

दूसरा फेजः 15 फरवरी को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन कन्नौज में रैली की। इस दिन 67 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 50 सीटें जीतीं।

तीसरा फेजः 19 फरवरी को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन फतेहपुर में रैली की। इस दिन 70 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 56 सीटें जीतीं।

चौथा फेजः 23 फरवरी को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन बहराइच और बस्ती में रैली की। इस दिन 54 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 41 सीटें जीतीं।

5वां फेजः 27 फरवरी को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन मऊ में रैली की। इस दिन 50 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 42 सीटें जीतीं।

6वां फेजः 4 मार्च को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन जौनपुर और वाराणसी में रैली की। इस दिन 49 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 32 सीटें जीतीं।

लोकसभा चुनाव 2019

जब रैली की, तब 77 सीटों पर वोटिंग हुई थी, इनमें से भाजपा 55 सीटें जीती

2019 में हुए लोकसभा चुनाव में 7 फेज में वोटिंग हुई थी। इनमें से 13 राज्य ऐसे थे, जिनमें एक से ज्यादा फेज में वोटिंग हुई थी। पहले फेज की वोटिंग 11 अप्रैल को और आखिरी फेज की वोटिंग 19 मई को हुई थी। इस चुनाव में मोदी ने 6 दिन तभी रैलियां की थीं, जिस दिन वोटिंग थी।

पहला फेजः 11 अप्रैल को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन असम और बिहार में रैली की। इसी दिन असम की 5 और बिहार की 4 सीटों पर वोटिंग भी थी। इनमें से भाजपा ने असम की 4 और NDA ने बिहार की चारों सीटें जीतीं।

दूसरा फेजः 18 अप्रैल को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन गुजरात, कर्नाटक और केरल में रैलियां की थीं। गुजरात और केरल में तो एक ही फेज में वोटिंग थी। जबकि, 18 अप्रैल को कर्नाटक की 14 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने 11 सीटें जीतीं।

तीसरा फेजः 23 अप्रैल को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन गुजरात, ओडिशा और पश्चिम बंगाल पहुंचे। इसी दिन गुजरात की सभी 26, ओडिशा की 6 और पश्चिम बंगाल की 5 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने गुजरात की सभी 26, ओडिशा और पश्चिम बंगाल की 2-2 सीटें जीती थीं। हालांकि, इस दिन मोदी गुजरात में वोट डालने गए थे।

चौथा फेजः 29 अप्रैल को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन पश्चिम बंगाल और झारखंड में रैलियां कीं। इसी दिन पश्चिम बंगाल की 7 और झारखंड की 3 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने पश्चिम बंगाल और झारखंड की 3-3 सीटें जीती थीं।

5वां फेजः 6 मई को वोटिंग थी। मोदी ने इस दिन पश्चिम बंगाल और झारखंड में रैली की। इसी दिन पश्चिम बंगाल की 7 और झारखंड की 4 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने झारखंड की सभी 4 और पश्चिम बंगाल की तीन सीटें जीतीं।

6वां फेजः 12 मई को वोटिंग थी। मोदी ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में रैली की। इसी दिन उत्तर प्रदेश की 14 और मध्य प्रदेश की 8 सीटों पर वोटिंग थी। इनमें से भाजपा ने उत्तर प्रदेश की 11 और मध्य प्रदेश की आठों सीटें जीतीं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Narendra Modi Election Rally Analysis Update | Bihar Chunav Rally 2020 Vs Uttar Pradesh Election Campaign 2017 Vs Lok Sabha 2019


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2I1Z91G

Post a Comment

Previous Post Next Post