क्या हो रहा है वायरल: सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि मोदी सरकार किसान सुधार के नाम पर 3 नए कानून उद्योगपति अडानी को फायदा पहुंचाने के लिए लाई है।

मैसेज के साथ अडानी ग्रुप की कंपनियों के नामों वाली एक लिस्ट शेयर की जा रही है। बताया जा रहा है कि ये सभी कंपनियां अडानी की हैं। और ये कंपनियां मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि सुधार कानूनों के ठीक 1 साल पहले 2019 में शुरू की गई हैं।

और सच क्या है?

  • वायरल लिस्ट में कंपनियों का DIN ( डायरेक्टर आइडेंटिफिकेशन नंबर) भी दिया गया है। हमने इस नंबर को मिनिस्ट्री ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स की वेबसाइट पर क्रॉस चेक किया।
  • DIN नंबर से उन सभी कंपनियों के नाम हमारे सामने आए, जिनकी लिस्ट वायरल हो रही है। सभी कंपनियों के आगे तारीख भी लिखी है, सभी तारीखें साल 2019 की ही हैं।
  • क्या लिस्ट में कंपनियों के नाम के आगे लिखी तारीखों से ये पुष्टि होती है कि सभी कंपनियां साल 2019 में बनी हैं? बिल्कुल नहीं। दरअसल ये तारीख वो हैं, जब अमित मलिक नाम के व्यक्ति को कंपनी का डायरेक्टर बनाया गया था।
  • मिनिस्ट्री की वेबसाइट पर हमने लिस्ट में दी गई सभी कंपनियों के शुरू होने की तारीख चेक की। इससे पता चला कि लिस्ट की कोई भी कंपनी 2019 में नहीं बनी। सभी कंपनियां 2018 से पहले शुरू की गई हैं। साफ है कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा फेक है।
कंपनी का नाम शुरू होने की तारीख
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड (दरभंगा) 10 अक्टूबर, 2018
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड (बोरिवली) 8 अगस्त, 2018
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड (धमोरा) 8 अगस्त, 2018
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड (दाहोद) 2 अगस्त, 208
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड(पानीपत) 11 जनवरी, 2017
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड ( कन्नौज) 10 जनवरी, 2017
डेरमोट इंफ्राकॉन लिमिटेड 11 नवंबर, 2016
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड( कटिहार) 23 मार्च, 2016
अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड( कोटकापुरा) 23 मार्च, 2016
अडानी लॉजिस्टिक सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड 6 जून, 2006


आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
Farmers Bill Benefit of Adani and Ambani


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3gGhkqP

Post a Comment

Previous Post Next Post